एशिया में 1967 के बाद सबसे कम होगी जीडीपी की विकास दर, 0.9 प्रतिशत के करीब रह सकती है ग्रोथ रेट

via Dainik Bhaskar
https://ift.tt/3cN0fJW



कोरोना की महामारी के कारण एशिया में 1967 के बाद सबसे कम सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर रह सकती है। यह 0.9 प्रतिशत के आस-पास रहेगी। यह अनुमान विश्व बैंक ने लगाया है। विश्व बैंक ने आर्थिक अपडेट में यह जानकारी दी है।

पूर्वी एशिया और पैसिफिक एशिया पर रिपोर्ट

विश्व बैंक की इस जानकारी के मुताबिक कोरोना की वजह से इस बार पूर्वी एशिया और एशिया पैसिफिक (चीन सहित) में पिछले 50 सालों की सबसे कम विकास दर होगी। कोरोना वायरस महामारी के कारण पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र के साथ-साथ चीन में भी अर्थव्यवस्था 50 से ज्यादा सालों के दौरान सबसे धीमी वृद्धि रहने की उम्मीद है। विश्व बैंक ने कहा कि 2020 में इस क्षेत्र के केवल 0.9 प्रतिशत तक बढ़ने की उम्मीद है।

बाकी हिस्सों में 3.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान

आर्थिक अपडेट के मुताबिक पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र के बाकी हिस्सों में जीडीपी की विकास दर में 3.5 फीसदी गिरावट रह सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि महामारी और इसके प्रसार को रोकने के प्रयासों से आर्थिक गतिविधि में एक महत्वपूर्ण सुधार हुआ। इन देशों को महामारी से आर्थिक और वित्तीय प्रभाव से निकलने के लिए रेवेन्यू जुटाने के लिए वित्तीय सुधार को आगे बढ़ाना होगा।

देश की जीडीपी में 23.9 प्रतिशत की गिरावट रही है

भारत के जीडीपी की विकास दर में पहली तिमाही में जबरदस्त गिरावट हुई है। केंद्र सरकार के सांख्यिकी मंत्रालय के अनुसार, 2020-21 वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल से जून के बीच विकास दर में 23.9 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। ऐसा अनुमान लगाया गया था कि कोरोना वायरस महामारी और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण देश की जीडीपी की दर पहली तिमाही में 18 फीसदी तक गिर सकती है।

सामाजिक सुरक्षा जरूरी

विश्व बैंक ने कहा है कि कामगारों के लिए सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम अर्थव्यवस्था में वापसी लाने में मदद कर सकते हैं। उधर रेटिंग एजेंसी इक्रा ने देश के जीडीपी अनुमानों को आगे और घटाते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था में 11 फीसदी तक की गिरावट आ सकती है। रेटिंग एजेंसी ने इससे पहले 9.5 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था। इक्रा ने अपने अनुमानों को संशोधित करते हुए कहा कि देश में कोविड-19 की रफ्तार अभी भी ज्यादा है।

देश में कोरोना के 70,589 नए मामले

भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 70,589 नए मामले सामने आए आए हैं और इस दौरान 776 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 61,45,292 हो गई है, जिसमें 9,47,576 सक्रिय मामले हैं और 51,01,398 मरीज ठीक होने के बाद डिस्चार्ज हो गए हैं। भारत में अब तक कोरोना से 96,318 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


दूसरी ओर रेटिंग एजेंसी इक्रा ने भी देश के जीडीपी अनुमानों को आगे और घटाते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था में 11 फीसदी तक की गिरावट आ सकती है